हमारे बारे में

आदिवासी कल्याण समिति की स्थापना, झारखंड राज्य के कुछ मजबूत इरादों वाले सामाजिक कार्यकर्ताओं ने की है।


यह किसी विशेष जाति या लोगों के विशिष्ट समूहों के लिए नहीं बनाया गया है , हालांकि यह सभी पारंपरिक व्यवसायों और जो कौशल, प्राचीन काल से अस्तित्व में हैं और आज की आधुनिक दुनिया में विलुप्त हो रहे हैं, उन सभी के उत्थान के लिए गठित हुआ है |


इस संस्थान को वर्ष 2012 में, सोसायटी पंजीकरण अधिनियम 1860 के प्रावधानों के अनुसार पंजीकृत किया गया है। श्री सोनाराम कुम्हार, संस्थापक सह सचिव, भारतीय सेना में सूबेदार मेजर के मानद पद से सेवानिवृत्त हैं। यह एनजीओ अब भी स्थानीय जनजातीय आवासियों को सरकारी योजनाओं के अंतर्गत लाभ प्रदान करवाने में सक्रिय है।


आने वाले कल के परिपेक्ष्य में, गांवों से राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मिट्टी के बर्तनों की कला को लेकर इनकी कई बड़ी योजनाएं हैं।


दान से कभी कोई गरीब नहीं हुआ

© 2020 Aakas. All Rights Reserved | Made with by Dealing with Designs